विश्वनाथ मंदिर परिसर की सफाई से लेकर शहर में बिजली कटौती पर राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने अधिकारियो को दिए कड़े निर्देश

विश्वनाथ मंदिर परिसर की सफाई से लेकर शहर में बिजली कटौती पर राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने अधिकारियो को दिए कड़े निर्देश

सड़क पर कूड़ा न फेकने हेतु स्थानीय लोगो को जागरूक एवं प्रेरित किये जाने पर विशेष जोर दिया। बिजली विभाग के क्षेत्रवार अधिकारियों के फोन नंबर सार्वजनिक कराये।

श्री काशीविश्वनाथ मंदिर परिसर एवं गलियों में 24 घंटे, तीन पहर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करायें-डा0नीलकंठ तिवारी

उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी ने श्री काशीविश्वनाथ मंदिर परिसर एवं परिसर को आने वाली आसपास के गलियों को हर हालत में साफ-सुथरा रखने के लिये रोजाना तीनों  पहर चौबीस घंटा सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने हेतु कार्यदायी संस्था एलएफएस के प्रतिनिधि को कड़े निर्देश दिये।

उन्होने मंदिर परिसर एवं उसके आसपास की गलियों में व्याप्त गंदगी पर संस्था के प्रतिनिधि को फटकार लगाते हुए कहॉ कि मंदिर एवं आसपास के क्षेत्र में गंदगी किसी भी दशा में बर्दास्त नही किया जायेगा। उन्होने संस्था द्वारा कराये जा रहे सफाई कार्य की निगरानी हेतु नगर निगम के सुपरवाइजर की तैनाती किये जाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित किया। उन्होने छत्ताद्वार, ढुढीराज एवं सरस्वती फाटक चेंकिग प्वाइंट पर डेस्टवीन रखे जाने का निर्देश दिया ताकि मंदिर जाने वाले श्रंद्वालू अपने साथ लाये पानी के बोतल, पत्ते आदि उसमें डाल सके। उन्होने मंदिर परिसर को पूरी तरह साफ-सुथरा रखे जाने हेतु मंदिर परिसर एवं गली में वावर्दी सफाई कर्मियों को 24 घंटे तीन पहर के हिसाब से ड्यूटी लगाये जाने का निर्देश दिया। ये सफाई कर्मी परिसर की गलियों में चक्रमण करते रहेगे और जहॉ भी गंदगी देखगे, तत्काल् उसे वहॉ से हटायेगें।

उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी सोमवार को श्री काशीविश्वनाथ मंदिर परिसर स्थित कार्यालय सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होने सफाई पोस्ट बनाकर मंदिर परिसर एवं आसपास के गलियों की सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने पर विशेष जोर दिया। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर एवं वहॉ तक आने वाली 7-8 गलियों में बुधवार से नई रणनीति के तहत सफाई व्यवस्था शुरू कराये जाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित किया।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि मंदिर परिसर एवं उसकी गलियों में तैनात सफाई कर्मियो कों आरेन्ज कलर की वर्दी मुहैया कराया जायेगा तथा ये सफाई कर्मी कार्य समाप्त करने के पश्चात् चक्रमण करते रहेगें। उन्होने मंदिर के चेकिंग प्वाइंट पर प्लास्टिक के बोतल के लिये बोतल क्रेशर लगवाये जाने हेतु मुख्य कार्यपालक अधिकारी को निर्देशित किया। बैठक पश्चात् मंत्री डा0नीलकंठ तिवारी ने मंदिर परिसर का निरीक्षण कर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान श्रंद्वालूओं के साथ सुरक्षा कर्मियों का सौम्य व्यवहार सुनिश्चित कराये जाने हेतु पुलिस अधिकारी को निर्देशित किया।

बैठक में कमिश्नर दीपक अग्रवाल, नगर आयुक्त डा0नितिन बंसल, मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह सहित मंत्री के प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

बिजली की कोई कमी नही, ट्रिपिंग एवं कटौती बर्दाश्त नहीं-डा0नीलकंठ तिवारी

उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी सोमवार को भिखारीपुर स्थित पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम के प्रबन्ध निदेशक कार्यालय सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी ने निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराये जाने हेतु विद्युत विभाग के अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहॉ कि बनारस में बिजली की कोई कमी नहीं है, फिर भी ट्रिपिंग एवं ट्रांसफार्मर जलने की समस्याओं के कारण उपभोक्ताओं को कटौती से जूझना पड़ रहा है। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि विद्युत की समस्या का समाधान प्राथमिकता पर सुनिश्चित कराया जाय। विद्युत विभाग में कर्मियों की कोई कमी नही है, ऐसी स्थिति में जनता की समस्याओं का समाधान हर हालत में शीघ्र सुनिश्चित कराया जाय। ट्रासफार्मरो को जलने की शिकायत पर जहां जरूरत हो वहां ट्रांसफार्मर अधिक पावर का लगाएं जाने पर जोर देते हुए उन्होने कहॉ कि ट्रिपिंग एवं कटौती बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होने जन सामान्य से विद्युत विभाग से संबंधित समस्याओं को टोल फ्री नं0 1912 पर उपलब्ध कराये जाने की भी अपील की है।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने सुझाव दिया कि किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों और बिजली विभाग के जिम्मेदार वरिष्ठों का व्हाटशाप ग्रुप बनाएं जाय। इस पर समस्याओं के बारे में जनप्रतिनिधि तथा सरकारी सूचना दे सकेगे। उन्होने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभागीय स्तर पर एक सूचना तंत्र विकसित करें। जिस पर लोकल फाल्ट होने पर या आपात स्थिति में तुरंत सूचित कर जनहानि, या किसी बड़े अनहोनी से बचा जा सके। वह सूचना तंत्र ऐसा हो, जिस पर शिकायतों का डाटा निवारण का आंकड़े उपलब्ध हो। मंत्री नीलकंठ तिवारी ने समस्याओं निराकरण पर नजर रखने के लिए एक समिति बनाने का भी निर्देश दिया। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ की विद्युत विभाग के जूनियर इंजीनियरों द्वारा काम में बहुत लापरवाही बरते जाने की शिकायत मिल रही है। इन्हे जूनियर इंजीनियरों को सक्रिय एवं प्रभावी बनाये जाने हेतु विभागीय अधिकारी को निर्देशित किया।

बैठक में कमिश्नर दीपक अग्रवाल, विधायक रोहनियॉ सुरेन्द्र नारायण सिंह सहित मंत्री के प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.