फर्जी गिरोह का हुआ भंडाफोड़, महिला सहित पांच लोग गिरफ्तार

फर्जी गिरोह का हुआ भंडाफोड़, महिला सहित पांच लोग गिरफ्तार

बुधवार को वाराणसी के लोहता थाना ने एक बड़े फर्जी गिरोह का भंडाफोड़ किया। गिरोह में महिला सहित पांचो लोग एक फर्जी ऑफिस के नाम कौशल विकाश योजना के नाम पर लाखो की ठगी किए।

प्रभारी थाना लोहता फोर्स सहित वांछित अपराधियों के तलाश में कोरौती चौराहे पर मौजूद थे। मुखबिर से सूचना मिली कि लोहता व रोहनिया के वांछित अपराधी अवधेश मिश्रा उर्फ रिंकू मिश्रा का एक जालसाजी का संगठित गिरोह है जिसमें कई सदस्य मौजूद है,वाछिंत अभियुक्त अवधेश मिश्रा अभी थोड़ी देर में अपने घर पर आने वाला है इस सूचना पर विश्वास कर तत्परता व तेजी दिखाते हुए मुखबिर के बताये हुए स्थान पर बढ़ते हुए पुलिस बल को टीमों में विभक्त कर चारों तरफ से योजनाबद्ध तरीके घेरने व पकड़ने के लिए आगे बड़े कि पुलिस बल को देख कर पुनः गाड़ी को पिछे मोड़ा कर भागने लगा पुलिस बल द्वारा घेरमार कर 01 व्यक्ति को मोटर साईकिल सहित पकड़ा लिया गया।

पकड़े गये व्यक्ति का नाम अवधेश मिश्रा रिंकू मिश्रा पुत्र सुभाष उर्फ मटरू नि0 हैबतपुर थाना लोहता जिसे समय 02:00 रात्रि में पिसौर पुल के पास से गिरफ्तार किया है अभियुक्त से पूछताछ व निशादेही पर घटना में सारिक अन्य अभियुक्तगण शैलेश कुमार उर्फ गुड्डू उपाध्याय पुत्र शिवसागर उर्फ मल्लू उपाध्याय निवासी हैबतपुर थाना लोहता वाराणसी,रोहित त्रिपाठी उर्फ दीपू त्रिपाठी पुत्र सुधीर त्रिपाठी,नीलम पाण्डेय पत्नी जयशंकर पाण्डेय, किरन जायसवाल पत्नी स्व0 प्रदीप जायसवाल निवासीगण चन्द्रावती थाना चौबेपुर वाराणसी को कौरतपुल के पास से समय 09.30 बजे सुबह गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में अभियुक्तगण द्वारा बताया गया कि साहब हम लोग का जालसाज गिरोह का सरगना अवधेश मिश्रा उर्फ रिन्कू पुत्र सुभाष उर्फ मटरू निवासी हैबतपुर थाना लोहता वाराणसी है तथा हमलोगो के द्वारा कमाये गये रूपये पैसो का हिसाब रवि श्रीवास्तव द्वारा किया जाता है जो अपने घर के पास देववाणी स्कूल के सामने साइन कम्प्यूटर इस्टीट्यूट के नाम से संस्था खोल रखा है उन्ही कम्प्यूटरो मे हमलोग के पर्ची छपवाने आदि तथा हिसाब किताब का डाटा भी गोपनीय तौर पर रखा जाता है जिसका संचालन उक्त रवि श्रीवास्तव पुत्र प्रदीप कुमार द्वारा किया जाता है हमलोग के सामुहिक पैसे से ही कुल 6 अदद नये पुराने कम्प्यूटर सेट खरीदे गये जो उसी के साई इन्स्टीट्यूट मे मौजूद है शेष आमदनी के पैसे हमलोग बराबर बराबर हिस्सो मे बाट लेते है

बरामदगी में 04 LED मानीटर, 02 पुराना कम्प्यूटर मानीटर, 06 C.P.U मय लीड़, 06 कीबोर्ड, दो मो0सा0 डिस्कवर, फर्जी प्रपत्र प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, एक मोबाइल टच स्क्रीन, एक मोबाइल कीपैड, 1600 रू0 सम्बन्धित प्राप्त हुआ। उक्त अपराधियों का जनपद के विभिन्न थाना पर पूर्व में कई मुकदमा भी दर्ज है। गिरफ्तारी टीम में प्रमुख तौर पर क्राइम ब्रान्च, वाराणसी के उ0नि0 मुन्नीलाल कन्नौजिया, बब्बन सिंह, का0 पवन कुमार यादव, सुनील कुमार, राहुल प्रसाद आदि उपस्थित थे।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.