अब इन रास्तो पर नहीं जाएँगी स्कूल बसे : एसपी यातायात

अब इन रास्तो पर नहीं जाएँगी स्कूल बसे : एसपी यातायात

बनारस में आएदिन लग रहे जाम से निजात पाने के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात  सुरेश चन्द्र रावत ने विभिन्न विद्यालय के बसों के आवागमन पर रोक लगते हुए शहर के व्यस्तम इलाको से रॉउट डायवर्सन करने के लिए कार्यालय में गोष्ठी का आयोजन किया गया। गुरुवार को आयोजन इस गोष्ठी में समस्याओ पर विचार विमर्श के लिए राम यादव, आर0टी0ओ0 प्रवर्तन,आर0पी0 द्विवेदी, आर0टी0ओ0 प्रशासन तथा विभिन्न विद्यालयों के पदाधिकारीगण के साथ बैठक किया गया।

पुलिस अधिनियम -1861 की धारा 31 का प्रयोग करते हुए आदेश निर्गत किया गया

आयोजन के शुरुवात में एसपी ट्रैफिक ने समस्या बताते हुए कहा की वाराणसी शहर के प्राचीन क्षेत्र में सड़कों की चौड़ाई अत्यन्त कम है, जिस कारण विद्यालयों सें सामान्यतः संचालित हो रही बसों के आवागमन से वहाॅ पर यातायात की अत्यन्त समस्या उत्पन्न हो रही है, जिसके कारण आम जन सामान्य का आवागमन व्यस्ततम समय में लगभग बाधित हो जाता है। यह समस्या रामापुरा चैराहा से रेवड़ी तालाब तिराहा होकर भेलूपुर चैराहा, सोनारपुरा तिराहा से जंगमबाड़ी होकर, गोदौलिया से चौक, मैदागिन के मध्य के क्षेत्र में सड़क अत्यन्त सकरी होने कारण स्कूली बसों के संचालन से यातायात की समस्या और अधिक गम्भीर हो जाती है। इसके साथ ही बी0एच0यू0 गेट स्थित मालवीय चैराहा पर स्कूल बसों के आवागमन से यातायात बाधित हो जाता है तथा आस-पास के प्रमुख अस्पतालों में आने-जाने वाली एम्बुलेंस एवं मरीज वाहनों का आवागमन भी बाधित हो जाता है। यातायात व्यवस्था को सुगम व सुरक्षित बनाये जाने हेतु विभिन्न विद्यालय के वाहनों का अनुशासित संचालन किया जाना अति आवश्यक है।

गोष्ठी में हुए विचार-विमर्श के उपरान्त वाराणसी शहर के प्राचीन क्षेत्र की सड़कों पर व मालवीय चैराहे पर यातायात व्यवस्था बनाये रखने हेतु पुलिस अधिनियम -1861 की धारा 31 का प्रयोग करते हुए आदेश निर्गत किया गया की मैदागिन से लेकर दशाश्वमेध घाट के मध्य के क्षेत्र की सभी सड़कों पर स्कूल बसों के आवागमन पर पूर्णतः प्रतिबन्ध रहेगा। इस क्षेत्र में विद्यालयों द्वारा बच्चों को ले जाने एवं लाने हेतु अधिकतम् 13 +1 सीट क्षमता के अनुमन्य वाहनों को संचालित किया जाना ही अनुमन्य होगा। शेष महानगर में पूर्व की भाॅति अनुमन्य स्कूल बसों का संचालन होता रहेगा। समस्त विद्यालयों को उपरोक्त क्षेत्र के स्कूल वाहनो के रिप्लेसमेंट के लिए 10 जुलाई, 2018 तक का समय प्रदान किया जाता है। 11 जुलाई, 2018 से उक्त प्रतिबन्ध अक्षरशः लागू कर दिया जायेगा।

मालवीय चैराहे के आस-पास प्रतिबन्ध की यह व्यवस्था दिनांक- 01.07.2018 से ही लागू कर दी जायेंगी

बी0एच0यू0 गेट स्थित मालवीय चैराहा पर समस्त स्कूल बसों का आवागमन पीक आवर में प्रातः 09ः00 बजे से सायं 19ः00 बजे तक प्रतिबन्धित किया जाता है। जिन बसों को सुन्दरपुर से नरिया होते हुए रविदास गेट, रविन्द्रपुरी तक जाना है, वह बसें नरिया से आगे रश्मि नगर कालोनी मोड़ से रश्मि नगर कालोनी होकर जा सकेंगे। जिन स्कूल वाहनों को रविन्द्रपुरी से रविदास गेट होकर सामने घाट, डाफी व नरिया की तरफ जाना है वह बसें रविदास गेट से लंका थाने के सामने से होकर ट्रामा सेंटर  से सीरगोबर्धन रोड होते हुए हाईवे से होकर पुनः डाफी से नरायनपुर चैराहा, सुसुवाही होकर हैदराबाद गेट होकर कंदवा तिराहा, नरिया होकर अपने गंतव्य को जा सकेंगी। जिन स्कूल वाहनों को सुन्दरपुर की तरफ से बी0एच0यू0 परिसर में जाना है वह बसें सुन्दरपुर नरिया तिराहा होकर नरिया गेट से प्रवेश कर बी0एच0यू0 परिसर में जायेंगी तथा पुनः इसी मार्ग से वापस होंगी। मालवीय चैराहे के आस-पास प्रतिबन्ध की यह व्यवस्था दिनांक- 01.07.2018 से ही लागू कर दी जायेंगी।

गोष्ठी में विचार विमर्श के लिए शहर के बड़े विद्यालय को आमंत्रित किया गया

इन समस्याओं पर विचार-विमर्श हेतु विभिन्न विद्यालयों के पदाधिकारीगण क्रमशः श्री अमल कुमार पाण्डेय, हैप्पी माडल स्कूल कुरूहुॅआ, श्री अरविन्द कुमार मिश्रा, संत अतुलानंद कांवेण्ट स्कूल गिलट बाजार, श्री अमिताभ कुमार, माउण्ट लिटरेरा जी स्कूल, श्री राजीव सिंह, डी0पी0एस0 वाराणसी, श्री केशरी पाठक, तोमर चिल्ड्रेन स्कूल शिवपुर, श्री अरविन्द कुमार विश्वकर्मा, आर्य महिला, एन0एम0 माडल स्कूल, श्री शुधांशू दीक्षित, विश्वकर्मा, आर्य महिला, एन0एम0 माडल स्कूल, श्री अश्वनी कुमार शर्मा, पायनियर कान्वेंट स्कूल काशीपुरा, श्री इन्द्रजीत सिंह, जीवनदीप पब्लिक स्कूल, श्री सकराम, सनबीम ग्रुप वाराणसी के साथ-साथ गोष्ठी की गयी।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.