बनारस में तेज आंधी ने बरसाया कहर, कई घरो की बुझ गयी दीपक

बनारस में तेज आंधी ने बरसाया कहर, कई घरो की बुझ गयी दीपक

शुक्रवार शाम आई तेज आंधी और तूफान ने वाराणसी के कई गांवों में कहर बरसाया। मोंगलाबीर गांव में तीन सगी बहनों पर आम का पेड़ गिर गया। पेड़ से दबने पर एक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि दो बहनें गंभीर रूप से घायल हो गईं। मिर्जामुराद थाना परिसर में नीम का पेड़ गिरने से कैंपस में खड़ी पुलिस जीप और बांग्ला चट्टी स्थित शंकर जी मंदिर पर सियाराम बाबा का योगासन के कमरे का छत पेड़ गिरने से क्षतिग्रस्त हो गया। जिसमें लोग बाल- बाल बचे। तेज आंधी व  तूफान के चलते क्षेत्र के गौर, चक्रपानपुर, ब्यासपुर, मोंगलावीर शिवरामपुर आदि गांवों के दर्जनों पेड़ उखड़ गए और कई लोग जख्मी हो गए। आम की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। क्षेत्र में आधा दर्जन खंभे भी उखड़ जाने से बिजली आपूर्ति ठप हो गई। सेवापुरी में चहारदीवारी गिरने से चार बच्चे जख्मी हो गए।

पेड़ गिरने से तीन सगी बहनें दबीं, एक की मौत

शिवरामपुर निवासी राजेश राजभर की तीन पुत्री देवी (14), जय देवी (12) और शालू (10) तीनों बहनें पास के ही मोंगलबीर गांव स्थित सरकारी नलकूप से स्नान कर आंधी-पानी के दौरान ही घर लौट रहीं थी। रास्ते में आम का पेड़ गिरने से तीनों दब गईं। हादसे में सबसे छोटी पुत्री शालू की मौत हो गई।  जबकि अन्य दो बहनें बुरी तरह जख्मी हो गईं। ग्रामीणों की मदद से घायलों को इलाज के लिए बीएचयू ट्रामा सेंटर भेजा गया। शालू कक्षा पांच में पढ़ती थी। पिता मजदूरी कर जीवकोपार्जन करता है। सूचना पाकर पहुंचे कार्यवाहक थानाध्यक्ष रामप्रकाश यादव ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। ग्रामीणों ने इस घटना को क्षेत्रीय विधायक नील रतन सिंह नीलू को भी अवगत कराया है।

मिर्जामुराद में एक परिवार घायल

तेज आंधी और तूफान के चलते मिर्जामुराद के गौर राजभर बस्ती में विशाल नीम का पेड़ स्थानीय निवासी फूलचंद राजभर कच्चे मकान पर गिर पड़ा। जिसमें मकान में रह रहे उनके बेटे अनिल 22, उनकी बहू रीना 20 और दूसरी बहू बेबी गंभीर रूप से घायल हो गई। मौके पर मकान पर पेड़ गिरने से कोहराम मच गया। ग्रामीणों के सहयोग से तीनों घायलों सहित काजल, नैना, पवन, सेजल, दिलीप, प्रिया व प्रियांशु सभी बच्चों को मकान के अंदर से निकाला गया। जिसमें घायलों को पास के नर्सिंग होम में इलाज कराया गया।

सेवापुरी में चार बच्चे मलबे में दब गए

जंसा और कपसेठी थाना क्षेत्र खिल्लूपुर व मटूका गांव में शुक्रवार शाम आई तेज आंधी में खेल रहे चार बच्चे चहारदीवारी के मलबे में दब गए। सड़क पर गिरे पेड़ों से यातायात प्रभावित होने के साथ बिजली ठप होगी। खिल्लूपुर में खदेरन माली की झोपडी व बाबा पटेल की गुमटी की दुकान पर नीम का पेड़ गिरने से हजारों का नुकसान  हुआ है। खिल्लूपुर में बिजली के पांच पोल ट्रांसफार्मर सहित उखड़ गए। मटूका गांव में चर्च  की दीवार गिरने से चार बच्चे दब गए। ग्रामीणों ने किसी प्रकार दीवार का मलबा हटाकर सभी को बाहर निकाला और स्थानीय  अस्पताल में भर्ती  कराया। तीन को ट्रामा सेंटर भेज दिया गया। घायलों में अश्विनी पटेल (10), सुनील कुमार पटेल (8),  जान्हू हाशमी (10), किशन पटेल उर्फ विकास शामिल है।

जंसा में बिजली गिरने से दो बच्ची की मौत हो गयी

जंसा थाना क्षेत्र के खमौना और महगीपुर गांव में बिजली गिरने से मासूम अंश कुमार राजभर (6) और महगीपुर में निशा पटेल की (42) की मौत हो गई। जंसा के खमौना गांव में शुक्रवार शाम  लगभग चार बजे तेज आंधी व पानी के समय अंश कुमार राजभर पुत्र श्यामा चरण राजभर घर बगल बगीचे में अपने कई साथियों के साथ आम बिन रहा था। इसी बीच बिजली गिरने से मौके पर मासूम की मौत हो गई। वहीं इसी थाना क्षेत्र के महंगीपुर गांव में निशा पटेल (42) पशुओं को चारा काटने  खेत में गयी थी। जहां बिजली गिरने से वह बुरी तरह से झुलस गई। वाराणसी स्थित निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई।

सौजन्य: अमर उजाला 

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.