सीएनजी डीजल और पेट्रोल के मुकाबले करीब 30 फीसदी किफायती पड़ता है, सीएनजी व पीएनजी की शुरुवात वाराणसी में

सीएनजी डीजल और पेट्रोल के मुकाबले करीब 30 फीसदी किफायती पड़ता है, सीएनजी व पीएनजी की शुरुवात वाराणसी में

नगरवासियों को नेचुरल गैस के प्रति जागरूक करने के लिए गेल की ओर से गुरुवार को वाराणसी विकास प्राधिकरण के चौकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।

प्रदूषित होता वातावरण हमारे लिए सबसे बड़ी समस्या बनती जा रही है। दुनिया भर के प्रदूषित शहरों में वाराणसी शहर भी एक है जिसका प्रमुख कारण है ट्रैफिक का बढ़ता दबाव और पेट्रोल-डीजल का धुंआ। इस समस्या से लोगों को निजात दिलाने के लिए गेल (इंडिया )लिमिटेड की ओर प्रधानमंत्री ऊर्जा गङ्गा परियोजना के अंतर्गत से सीएनजी और पीएनजी की शुरूआत शहर में हो चुकी है।

कार्यशाला के मुख्य अतिथि कमिश्नर श्री दीपक अग्रवाल जी ने इस कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए गेल इंडिया लिमिटेड के इस प्रयास की सराहना करते हुए प्रशासन द्वारा हर संभव सहयोग देने के भरोसा दिलाया। इन्होंने पीएनजी से होने वाले लाभ को अपने अनुभवों के साथ साझा करते हुए सभी को इनसे होने वाले लाभ को अवगत कराया एवं स्वयं को गेल का ब्रांड अम्बेसडर भी बताया। उन्होंने अपने माताजी द्वारा लकड़ी पर बनाये जा रहे खाने से कितनी तकलीफ होती थी इस बात को बताते हुए एलपीजी के आने के बाद से जो सुविधा मिली तथा पीएनजी के आने से इस सुविधा में और क्रांतिकारी बदलाव आये है इन बातों को उन्होंने समझाया। सीएनजी के बारे में उन्होंने दिल्ली के अनुभवों को साझा करते हुए कहा की दिल्ली प्रदूषण मुक्त हुई है एवं समाज को इसका लाभ मिला है।

स्वागत भाषण में गेल के मुख्य महाप्रबंधक एस एन यादव जी ने प्रधानमंत्री ऊर्जा गङ्गा के अंतर्गत गेल की JHBDPL परियोजना तथा शहरी गैस वितरण परियोजना की उपलब्धियों को बताते हुए सीएनजी के प्रति जागरूकता तथा इसके समाज एवं पर्यावरण को होने वाले लाभों के प्रति अपने विचार व्यक्त किये।

इस दौरान गेल इंडिया की ओर से लोगों को बताया गया कि सीएनजी डीजल और पेट्रोल के मुकाबले करीब 30 फीसदी किफायती पड़ता है। साथ ही इसके उपयोग से प्रदूषण भी कम होता है। गेल के कार्यकारी निदेशक पार्थ जाना जी ने बताया कि वाराणसी में सीएनजी और पीएनजी की पाइप लाइने बिछायी जा चुकी है। लोग वाहनों के लिए सीएनजी का और घर व कॉमर्शियल उपयोग के लिए पीएनजी का उपयोग कर सकते हैं। ये एलपीजी, डीजल और पेट्रोल से काफी हद तक सस्ता है और पर्यावरण के लिए भी अच्छा है।

कार्यशाला में आये आटो रिक्शा चालकों को सीएनजी से होने वाले फायदे के बारे में बताया गया।

इस मौके पर आरटीओ आरपी द्विवेदी जी द्वारा वाहनों के सीएनजी में परिवर्तित करने हेतु हर संभव सहयोग दिया जाएगा। पुलिस अधीक्षक यातायात सुरेशचंद रावत जी ने भी सीएनजी के लाभों से अवगत कराया, ऑटो एसोशिएशन के अध्यक्ष दीना नाथ सिंह दीनू जी ने गेल को धन्यवाद देते हुए सीएनजी के प्रचार प्रसार हेतु ऑटो चालकों के सहयोग का वादा किया।

गेल के कार्यकारी निदेशक पार्थ जाना, चीफ जनरल मैनेजर एसएन यादव, उप महाप्रबंधक गौरीशंकर, बख्तावर सिंह, मुख्यप्रबंधक एन के द्विवेदी, सुरेश तिवारी, शीलचंद, सुनील प्रबंधक फायर एवं सेफ्टी अंकुर विश्नोई, मेकॉन की टीम,अग्निशमन अधिकारी समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

इस कार्यक्रम में 3 व्हीलर नएसीएनजी के ऑटो कंपनी बजाज ऑटो, टीवीएस ऑटो तथा 4 व्हीलर टाटा मोटर्स ने आई टुक के द्वारा 2 व्हीलर तथा 3 व्हीलर के कनवर्शन किट का भी अपने नए सीएनजी वाहनों के प्रदर्शन के साथ ही इनसे होने वाले फायदों की प्रस्तुतीकरण के साथ भी प्रदर्शनी का भी आयोजन किया।

सुबह से शाम तक चले इस कार्यक्रम में लगभग 1200 ऑटो/टेक्सी चालक शामिल हुए। गेल की ओर से इवेंट मैनेजमेंट आद्विका कंसल्टिंग सर्विसेज,नोयडा द्वारा किया गया जिसके मुख्य कार्यकारी अधिकारी आलोक दीप जी द्वारा संचालित किया गया। कार्यक्रम के समापन में गेल द्वारा इस कार्यक्रम में शामिल हुए ऑटो चालकों, प्रशासन के अधिकारियों तथा कार्यक्रम को सफल बनाने में शामिल पूरी टीम को आभार प्रकट किया।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.