वाराणसी क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़े दो लुटेरे, 20 मोबाइल संग दो तमंचा जिन्दा कारतूस बरामद

वाराणसी शहर में हो रही लूट व चेन स्नैचिंग/छिनैती की घटनाओं के रोकथाम व ईनामिया/वांछित अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में शनिवार को  पुलिस अधीक्षक अपराध ज्ञानेन्द्र नाथ प्रसाद की टीम को दो शातिर लूटेरों को गिरफ्तार करने में अहम सफलता प्राप्त हुई है और उनके कब्जे से 315 बोर का 1 तमंचा सहित एक जिन्दा कारतूस, 12 बोर का 01 तमंचा सहित एक जिन्दा कारतूस व 20 अदद महंगे मोबाइल सेट जिनकी कीमत लगभग 03 लाख रूपये सहित हीरो पैंशन प्रो मोटर साईकिल बरामद किया गया है।

शनिवार को प्रभारी क्राइम ब्रान्च विक्रम सिंह उ.नि. राकेश सिंह, हे.का. श्याम लाल गुप्ता (सर्विलांस सेल), का. सुमन्त सिंह, रामभवन यादव व अन्य के साथ शहर में हो रही लूट/चोरी/ मोबाइल व चेन स्नैचिंग /छिनैती की घटनाओं के रोकथाम व वांछित/पुरस्कार घोषित अपराधियों के तलाश में कचहरी चौराहे पर मौजूद थे। सर्विलांस व मुखबिर से सूचना मिली कि देशी शराब के ठेका के बगल छोटा लालपुर के पास जो मोबाइल लूट की घटना हुई है उससे संबन्धित लूटेरे वरुणा एन्कलेव सेंट्रल जेल रोड के पास एक काले रंग के पैंसन प्रो गाड़ी से छिनैती की घटना को अंजाम देने वाले है। इस सूचना पर विश्वास कर तत्परता से वरुणा एन्कलेव सेंट्रल जेल रोड के ओर क्राइम अपने टीम के साथ पहुंचे और घेरमार कर दो बदमाशों को पकड़ लिया जबकि दो अन्य बदमाश भागने में सफल रहे। दो गिरफ्तार बदमाशों ने अपना नाम पता नन्नकू उर्फ आशीष गौड़ पुत्र विजय कुमार गौड़ निवासी रसूलगढ़ नई बस्ती थाना-सारनाथ व अतुल सिंह पुत्र प्रदीप सिंह निवासी-एस 2/204 सिकरौल पोखरा, भोजूबीर, थाना-कैंट, वाराणसी बताया। वही दोनों फरार अभियुक्तगण का नाम पता राजू सिंह उर्फ राजू बंगाली पुत्र अमरेन्द्र नाथ सिंह निवासी एस-9/72 नई बस्ती पाण्डेयपुर, थाना-कैंट वाराणसी व सुल्तान पुत्र मो. रमजान निवासी एस/2-164 ए सिकरौल थाना कैंट, वाराणसी बताया।

महंगे शौक व गर्लफ्रेंड के खर्चे के लिए करते है चोरी

पूछताछ में उक्त अभियुक्तगण ने बताया गया कि हमलोग महंगे शौक व गर्लफ्रेंड के खर्चे के लिए चोरी/लूट करते है। हम लोग कुछ दिन पूर्व छोटा लालपुर में देशी शराब के पास एक व्यक्ति मोबाइल से बात करते हुए जा रहा था, उससे हम लोगों ने मोबाइल छिन लिया तथा पाण्डेयपुर के पास पुलिस लाइन तिराहे से, सेन्ट्रल जेल रोड पर भी कई लोगों के मोबाइल व पर्श छीने है और हम लोग शहर के विभिन्न स्थानों पर घूमते रहते है और अगर कोई व्यक्ति मोबाइल से बात करता हुआ पैदल या साईकिल से जाता हुआ दिखाई देता है तो मौका पाकर झप्पटा मारकर मोबाइल छीन लेते है और तेजी से बाइक चलाकर भाग जाते है। साहब हम लोग राजू व सुल्तान के साथ मिलकर चोरी भी करते है। साहब हम अक्सर रात में घूमते है और मौका देखकर किसी के घर में घुस जाते है और चोरी कर लेते है और जो लूट के सामान को बेचकर प्राप्त पैसे को आपस में बांट लेते है। लूट के मोबाइलों को हमलोग सस्ते दामों में बेचकर अपनी गर्लफ्रेन्ड के शौक पूरा किया करते है। कई बार लूट करते समय पब्लिक दौड़ाई परन्तु हम लोग तमंचा दिखाकर डराकर भाग जाते है।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.