पुलिस की पिटाई से युवक बेहोश, गंभीर

पुलिस की पिटाई से युवक बेहोश, गंभीर

गोपीगंज का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ की वाराणसी में भी पुलिस की अमानवीय चेहरा सामने आया। जंसा थानांतर्गत रामेश्वर चौकी के पुलिस कर्मियों की पिटाई से रविवार को एक युवक बेहोश हो गया। आनन- फानन में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहा उसे जिला अस्पताल भेजा गया। थाना प्रभारी इस मामले में कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे है।

भाई रहम की भीख मांगता रह गया, पुलिस ने एक न सुनी

रामेश्वर चौकी के पुलिस कर्मियों की पिटाई रविवार एक युवक बेहोश हो गए। हालत गंभीर होने पर पुलिस चौकी पर अफरा तफरी मच गयी। उसे तत्काल हरहुआ स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहां से पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल रेफर कर दिया गया। बताया जाता है कि जंसा थाना के कपरफोरवां गांव निवासी राम सूरत पटेल व विश्राम पटेल के बीच रास्ते का विवादचल रहा है। इसी विवाद के चलते रामेश्वर पुलिस चौकी से लोग शुक्रवार को गांव में गयी थे। जहाँ रासूरत पटेल के घर की महिलाओं को साथ अप शब्दों का प्रयोग भी किया था। वापस जाते समय रविवार को पुलिस चौकी आने की बात कह कर चले गये। रविवार को दोनों पक्ष रामेश्वर चौकी पहुचा। जहां दोनों पक्षों में समझौता हो गया। पुलिस कर्मियों ने राम अधार की हाथ पैर बांध कर पिटाई शुरू कर दिये। जब कि उसका बडा भाई पुलिस कर्मियों की सिफारिश करता रहा किन्तु वे पीटते रहे।

घर वालो से किया था पुलिस वाले ने अभद्रता व्यवहार

इस बीच राम अधार पटेल 28वर्ष ने पुलिस कर्मियों से पूछ दिया कि जब आप लोग मेरे घर गये थे तो मेरी भाभी सरोजा देवी पत्नी बुझारत पटेल को अपशब्दों का प्रयोग क्यों कर रहे थे। ऐसा नही करना चाहिए।यह बात पुलिस कर्मियों को नाग वार लग गयी। इससे नाराज जब अचानक रामअधार पटेल बेहोश होकर गिर को चौकी में अफरा तफरी मच गया तत्काल पीआरबी 100 को बुलाया गया। जहां से स्थानीय चिकित्सक के यहाँ ले जाया गया। जहां से हरहुआ भेज दिया गया। हरहुआ के चिकित्सको ने युवक को वाराणसी स्थित पंडित दीन दयाल अस्पताल भेज दिया, जहाँ उसका इलाजचल रहा है। राम अधार पटेल बुनकरी का काम करता है। रामेश्वर पुलिस चौकी अपने भाई के साथ गये बुझारत पटेल ने बताया कि रास्ते के विवाद का समझौता होने के बाद दोनों पक्ष के लोगों को वहां से यह कहते हुए जाने का निर्देश दे दिया कि राम अधार बाद में जायेगा। परिवार के लोगों के जाने के बाद पुलिस के लोग पिटाई करते रहे जब तक वह बेहोश नही हो गया। एक तरफ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी अपने मातहतों को आम नागरिकों से अच्छा बर्ताव करने की नसीहत देते है तो दूसरी तरफ उनके ही कर्मचारी उनके आदेशों का धज्जियां उडाना में कोईकोर कसर नही छोड रहे है। मारने वाले चौकी इंचार्ज शयमबिहारी के समक्ष एसआई अरुण कुमार सिंह व पंकज यादव ने पिटाई की हैं।

Mithilesh Patel

After completing B.Tech from NIET and MBA from Cardiff University, Mithilesh Patel did Journalism and now he writes as an independent journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.