आंवला नवमी  पर करें ये उपाय, मिलेगा धनलाभ 

आंवला नवमी  पर करें ये उपाय, मिलेगा धनलाभ 

कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को आंवला नवमी का पर्व मनाया जाता है। आज के दिन आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है।

मान्यता है कि आज के दिन आंवले के पेड़ की पूजा करने से आरोग्य और सुख समृद्धि की कामना की जाती है। 

एक अन्य मान्यता के अनुसार आंवला नवमी के दिन किये गए दान, जप और तप करने से मनुष्य को सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है और मनोवांछित फल की प्राप्ति भी होती है। 

आज के दिन आंवले के पेड़ के नीचे भोजन पकाया जाता है और सपरिवार खाना खाने की परम्परा है इससे अक्षय फल की प्राप्ति होती है।

भोजन पकाते समय यदि आंवले के पेड़ की पत्तियां यदि गिर जाय तो इसे भगवान विष्णु का आशीर्वाद माना जाता है। 

आज के दिन जगत के पालनहार भगवान विष्णु की पूजा करने के साथ उन्हें आंवले का भोग लगाया जाता है।

मान्यता है कि आंवला इस पृथ्वी का सबसे पहला फल है जिसका भोग भगवान विष्णु को लगाया जाता है। 

आज के दिन दान पुण्य का भी बहुत महत्व होता है और आज के दिन ब्राह्मणों को भोग लगाने से पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है।

आज के दिन खरीददारी करने का भी विशेष महत्व है। आंवला नवमी के दिन सोना, चांदी, आभूषण और जमीन खरीदना शुभ माना जाता है। इससे भौतिक चीजों में वृद्धि होती है। 

नवमी के दिन आंवले का सेवन करना अत्यंत शुभ माना जाता है। आंवले को औषधीय फल के रूप में जाना जाता है और धार्मिक दृष्टि से इसका महत्व काफी फलदायी माना जाता है।

मान्यता तो ये भी है कि भगवान विष्णु की कृपा और अच्छे स्वास्थ्य के लिए आंवला जरूर खाना चहिये। 

न्यूज़ बकेट पत्रकारिता कर रहे छात्रों का एक छोटा सा समूह है, जो नियमित मनोरंजन गपशप के साथ-साथ सामाजिक मुद्दों पर प्रकाश डालने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, इसके अलावा विभिन्न त्योहारों और अनुष्ठानों में शामिल सौंदर्य, ज्ञान और अनुग्रह के ज्ञान का प्रसार करते हुए भारतीय समाज के लिए मूल्य का प्रसार करते हैं। 

Vikas Srivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published.